Triphala churna ke fayde | त्रिफला चूर्ण का फायदा दिलाएगा इन बीमारियों से मुक्ति जानिए

benefits of triphala churna in hindi: अगर आप हेल्थ को सही रखने के लिए आयुर्वेदिक दवा का इस्तेमाल करते हैं या करना चाहते हैं तो त्रिफला काम नाम सुने होंगे। अगर नहीं जानते है तो जान ले त्रिफला क्या है? और त्रिफला के फायदे (Triphala ke fayde) के बारे में तो इसके जरिए कई प्रकार के रोगों को ठीक किया जा सकता है। इसे आयुर्वेदिक जड़ी बूटी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है और त्रिफला चूर्ण का नियमित सेवन आपको कई तरह की बीमारियों से मुक्ति दिला सकता है।

इससे पहले के आर्टिकल में हमने आपको पैरों की चर्बी कम करने के बारे में बताया जिसे आपको पसंद कर रहे हैं, अपना बहुत सारा प्यार इस आर्टिकल में दिखा रहे हैं। इसी से प्रेरित होकर हेल्थ टिप्स से जुड़ा एक और नया आर्टिकल आज हम आपके लिए लेकर आए हैं जिसमें आप त्रिफला चूर्ण के फायदे, त्रिफला के फायदे स्किन के लिए, त्रिफला चूर्ण की तासीर और इसके खुराक को भी जानेंगे। देखा जाए तो त्रिफला चूर्ण की कंप्लीट जानकारी आपको इस आर्टिकल में मिलेगी।

विषय सूची hide

क्या है त्रिफला – what is triphala in hindi

तो जो लोग त्रिफला चूर्ण (Triphala churna in hindi) के बारे में जानना चाहते हैं उनके मन में यह सवाल जरूर आता है कि आखिर त्रिफला क्या है और कैसे बनता है क्योंकि कई लोग मार्केट से रेडीमेड खरीदने के बजाय खुद घर पर बनाना पसंद करते हैं इसलिए आइए सबसे पहले जानते हैं त्रिफला क्या है इसके फायदे क्या है और इसे कैसे बनाया जाता है।

आंवला + हरड़(हर्रा) + बहेड़ा यह तीनों फल को मिलाकर बनाया जाता है इन 3 फलों के कारण ही इसे त्रिफला नाम दिया गया है। अब तो आप जान गए होंगे कि त्रिफला क्या है इसे आप घर पर भी आसानी से बना सकते है लेकिन उससे पहले इसके फायदे को जान ले तो बेहतर होगा।

त्रिफला चूर्ण के फायदे – benefits of triphala powder in hindi

Triphala churna ke fayde in hindi
Triphala churna ke fayde in hindi

त्रिफला चूर्ण के फायदे (Triphala churna ke fayde) इतने हैं कि आप गिनते थक जाएंगे यह शारीरिक स्वास्थ्य को सही रख बीमारियों को कम करने में मददगार माना जाता है इन गंभीर समस्याओं का इलाज है त्रिफला चूर्ण जाने इसके फायदे –

  • कब्ज
  • नेत्र समस्या
  • मुंह से जुड़ी परेशानी
  • ब्लड प्रेशर
  • कैंसर
  • सिर दर्द
  • गठिया
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता
  • ब्लड शुगर
  • वजन घटाएं

त्रिफला चूर्ण कब्ज में है फायदेमंद

कब्ज के लिए त्रिफला चूर्ण के फायदे (Triphala churna ke fayde hindi) जो लोग नहीं जानते वह जान लें। कब्ज की समस्या को दूर कर पाचन तंत्र को सही करता है क्योंकि अगर आपका पाचन तंत्र सही रहेगा तो कब्ज की दिक्कत ही नहीं होगी और आप आसानी से मल त्याग कर सकेंगे।

पाचन संबंधी समस्या को दूर करने के लिए खाना खाने के बाद एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच त्रिफला चूर्ण मिलाकर सेवन कर सकते है जला रहा देखने को मिलेगी।

आंखों के लिए त्रिफला चूर्ण का फायदा – Benefits Of Triphala Churna For Eyes in hindi

नेत्र दृष्टि में सुधार लाने, आंखों की मांसपेशियों को मजबूत करने, जलन और लालिमा जैसी आंखों से जुड़ी बीमारियों को दूर करने लिए त्रिफला चूर्ण काफी फायदेमंद है। आंखों के लिए आप इसे दो तरह से उपयोग में ला सकते हैं।

पहला एक मग पानी में एक चम्मच त्रिफला चूर्ण डालकर रात भर ऐसे ही छोड़ दे। सुबह उठकर इसे छान लें और इस पानी का इस्तेमाल आंखों को धोने के लिए करें। यह आपके आंखों को स्वस्थ रखने में बहुत फायदा पहुंचा सकता है।

दूसरा गाय के देसी घी में त्रिफला चूर्ण और शहद का सेवन किया जाए, तो यह आपके आंखों के लिए लाभप्रद रहेगा।

मुंह से जुड़ी परेशानी दूर करेगा त्रिफला चूर्ण

मुंह से जुड़ी समस्या प्रकार की समस्याओं के निवारण के लिए त्रिफला चूर्ण बहुत ही कारगर माना जाता है इससे मसूड़ों में दर्द या मुंह से बदबू आना या फिर दांतो से जुड़ी दिक्कत को दूर किया जा सकता है इसके लिए आप त्रिफला चूर्ण का पानी (Triphala churna water) बना कर मुंह में भरे और चारों तरफ घूमाएं इस तरह आप अपने हेल्थ की केयर कर सकते हैं।

ब्लड प्रेशर में त्रिफला चूर्ण का फायदा

क्या आप जानते हैं त्रिफला चूर्ण ब्लड प्रेशर को कंट्रोल कर सकता है अगर नहीं तो जान लीजिए त्रिफला चूर्ण का नियमित सेवन बड़े बड़े हुए खून के बहाव को नियंत्रित करता है और ब्लड प्रेशर को सामान्य करने में मदद करता है।

कैंसर से लड़ने में मददगार है त्रिफला

कैंसर चाहे किसी भी तरह का हो यह विभिन्न प्रकार के कैंसर के लक्षणों को रोक सकता है कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करता है त्रिफला में मौजूद गैलिक एसिड कैंसर गतिविधियों को रोकने में जिम्मेदार माना जाता है।

सिरदर्द के लिए इस तरह लें त्रिफला चूर्ण

सिरदर्द से राहत पाने के लिए त्रिफला गिलोय और चिरायता इन तीनों के मिश्रण से बना पानी का सेवन करें इसमें आप चाहे तो थोड़ा सा गुड़ और हल्दी भी मिला सकते हैं यह का काढ़ा सिरदर्द से राहत पहुंचाएगा।

त्रिफला चूर्ण गठिया में भी राहत दिलाता है

गठिया से संबंधित लक्षणों को दूर करने या गठिया के उपचार के लिए त्रिफला एक बहुत अच्छे आयुर्वेदिक औषधि है इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इन्फ्लेमेटरी हॉल इन समस्याओं से राहत पहुंचा सकता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए त्रिफला

त्रिफला चूर्ण के सेवन से शरीर को बीमारियों से लड़ने की ताकत मिलती है यह रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का काम करता है शारीरिक कमजोरी को दूर करता है बस इसका नियमित रूप से सेवन किया जाए तब आप फर्क जरूर देखेंगे शरीर की दुर्बलता को पूरी तरह खत्म कर देता है।

मधुमेह के लिए त्रिफला चूर्ण

त्रिफला चूर्ण का नियमित सेवन शुगर के मरीज के लिए काफी उपयोगी हो सकता है क्योंकि यह ब्लड ग्लूकोस लेवल कम करने में सहायक हो सकते हैं।

मोटापा कम करेगा त्रिफला चूर्ण

मोटापा कम करने और फैट बर्न करने के लिए त्रिफला और शहद का सेवन गुनगुने पानी के साथ 8 से 10 हफ्ते लगातार करने पर आपको फर्क देखने को मिलेग। इसके लिए आपको डाइटिंग, जिम जाने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी।

त्रिफला बनाने की विधि है आसान

आप घर पर आसानी से त्रिफला छोड़ने बना सकते हैं आइए जानते हैं कैसे बनाया जाता है त्रिफला।

त्रिफला चूर्ण की सामग्री (Triphala Churna Ingredients in hindi): हर्रा (हरड़) 60g, आंवला 150g, बहेड़ा 100g.

त्रिफला बनाने की विधि (Triphala churna ki vidhi): सबसे पहले इन तीनों फलों को 4 से 5 दिन कड़ी धूप में रख कर सुखा लें। इसके बाद इनका बीज निकालें और इसे बारीक काट लें, इतना करने के बाद बारीक कटे इन बीजों को 2 से 3 दिन धूप में सुखाएं या फिर करीब 10 मिनट के लिए माइक्रोवेव में डाल दें।

फिर तीनों बीजों को मिक्सी की सहायता से अलग-अलग बारीक पीस लें। जब बीज अच्छी तरह पिस जाए तब एक साफ सूखे बर्तन में डालकर मिक्स कर लें।

त्रिफला चूर्ण स्टोर करने का तरीका

घर पर बने त्रिफला चूर्ण को महीनों तक इस्तेमाल करने के लिए इसे स्टोर करने का तरीका भी जानना बहुत जरूरी है। त्रिफला चूर्ण को स्टोर करके रखने के लिए एक एयरटाइट कंटेनर या एक कांच के जार का इस्तेमाल किया जा सकता है लेकिन जरा रुकिए इसे डायरेक्ट जार में डाले नहीं बल्कि पहले एक छोटे प्लास्टिक बैग में त्रिफला चूर्ण ( Triphala churna) डाल कर अच्छे से लपेट लें, उसके बाद जार में डालकर रखें।

त्रिफला चूर्ण की खुराक (Triphala Churna Dosage) कितनी होनी चाहिए

डॉक्टर की सलाह के अनुसार त्रिफला की मात्रा दिन में 2 बार 5 – 5 ग्राम कर के लिया जा सकता है या फिर आधा चम्मच त्रिफला का चूर्ण दिन में एक बार लें सकते है। इसे आप खाली पेट गर्म पानी, शहद, घी इन तीनों के साथ ले सकते हैं।

त्रिफला चूर्ण के नुकसान

कुछ मामलों में त्रिफला चूर्ण के निम्नलिखित साइड इफेक्ट (Triphala churna ke side effects in hindi) होते हैं –

  • कई लोगों को त्रिफला लेने के बाद नींद आने में दिक्कत होती है।
  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को त्रिफला लेने की सलाह नहीं दी जाती इससे उनको नुकसान हो सकता है।
  • त्रिफला की ज्यादा मात्रा में सेवन से पीछे और 10 जैसे समस्या देखी जा सकती है।

निष्कर्ष (conclusion) – हमनें त्रिफला चूर्ण के फायदे (Triphala churna ke fayde) इसके बारे में सरल शब्दों में समझने की कोशिश की है। आशा करती हूं त्रिफला चूर्ण (Triphala churna in hindi) से जुड़ी सभी जानकारियो के बारे में आप अच्छी तरह समझ गए होंगे।

अगर इस पोस्ट से रिलेटेड आपके मन में कोई सवाल है? कुछ पूछना चाहते हैं, तो हमें कमेंट में पूछ सकते हैं। एक छोटा सा निवेदन, अगर आपको यह आर्टिकल हेल्पफुल लगा है और आपके कोई काम आ सका है, तो इसे अपने फ्रेंड्स और फैमिली के साथ शेयर करना ना भूलें।

Note: इस आर्टिकल में बताए गए किसी भी उपचार, तरीकों और उपाय को लोगों तक जानकारी पहुंचाने के लिए लिखा गया है। किसी भी उपाय को अपनाने से पहले पैच टेस्ट करे और अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। अपना हिंदी इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी या दावा नहीं करता है।  

आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद!

3 thoughts on “Triphala churna ke fayde | त्रिफला चूर्ण का फायदा दिलाएगा इन बीमारियों से मुक्ति जानिए”

Leave a Comment

मुल्तानी मिट्टी से बढ़ाएं चेहरे का गोरापन सामंथा रूथ प्रभु की बढ़ती खूबसूरती और चमकदार त्वचा का राज शादी से पहले इस फेस मास्क से बनाएं खूबसूरत चेहरा दुर्घटना के बाद ऋषभ पंत का हेल्थ अपडेट सुपरस्टार थलापति विजय का फिटनेस सीक्रेट चेहरे पर ओवरनाइट शहद लगाने के ब्यूटी टिप्स मलाई जैसी स्किन के लिए चेहरे पर लगाएं मलाई सर्दी के मौसम में डाइट प्लान क्या होना चाहिए सर्दियों में मुल्तानी मिट्टी और शहद के फायदे केक खाने के फायदे