High blood pressure me kya nahi khana chahiye – हाई ब्लड प्रेशर में क्या नहीं खाना चाहिए, जान लें नही तो पछताएंगे

High blood pressure me kya nahi khana chahiye, कौन सी चीजों का परहेज करें जिससे High blood pressure नियंत्रित हो जाए या यूं कहें कि ब्लड प्रेशर के पेशेंट के लिए कौन सी चीजें खानी सही नही होती हैं।

आजकल अनियमित जीवनशैली की वजह से ब्लड प्रेशर की शिकायतें आम समस्या बन गई है फिर चाहे हाई या लो, ब्लड प्रेशर की बीमारी में ब्लड प्रेशर हाई हो या लो दोनों ही स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

ब्लड प्रेशर की बीमारी होने पर लोगों को पौष्टिक आहार और फलों का सेवन करना चाहिए लेकिन ज्यादातर लोग ये नहीं समझ पाते हैं कि हाई ब्लड प्रेशर में कौन से फल फायदा करेंगे, क्या खाना चाहिए और क्या नही। High blood pressure me kya nahi khana chahiye आइए जानते हैं।

Hypertension और high blood pressure की समस्या से अधिकतर लोग जूझ रहे हैं। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन की रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में 12.8 फ़ीसदी मौतें high blood pressure के कारण होती हैं अगर ब्लड प्रेशर का इलाज ना किया जाए तो इसके कारण स्ट्रोक और हार्ट अटैक होने का खतरा रहता है।

high blood pressure की समस्या से जूझ रहे लोगों को अपनी डाइट का खास ख्याल रखना चाहिए डाइट में सोडियम का अधिक इस्तेमाल करने से ब्लड प्रेशर बहुत ज्यादा बढ़ सकता है जिससे जान को भी खतरा हो सकता है इसलिए इस समस्या से जूझ रहे लोगों को सोडियम का कम से कम इस्तेमाल करना चाहिए।

इसके साथ ही तली हुई और ज्यादा ट्रांसफैट वाली चीजों से दूर ही रहने चाहिए। अगर आप अपनी डाइट में विटामिन सी और पोटेशियम युक्त फलों को शामिल करते है तो high blood pressure की समस्या से राहत पा सकते हैं।

High blood pressure me kya nahi khana chahiye
High blood pressure me kya nahi khana chahiye

high blood pressure में क्या नहीं खाना चाहिए जानना बहुत जरूरी है

high blood pressure के मरीज को 5 चीजों का खासकर ध्यान रखना चाहिए

  • नमक ज्यादा ना खाए
  • तेल मसालेदार खाने से परहेज करें
  • मीठी चीजें, एडेड शुगर वाली चीजों को कम खाएं
  • कैफीन
  • अल्कोहल

high blood pressure का मतलब: हमारे शरीर के अंदर ब्लड कितना तेजी से बह रहा है। ब्लड का बहना तीन चीजों पर निर्भर करता है पहला यह कि आपका हाथ कितना तेजी से पंप करता है दूसरा शरीर के अंदर पानी कितना है ब्लड का वॉल्यूम कितना है और तीसरा ल्युमैन सकरा है या चौड़ा यह तीनों चीजें डिपेंड करती हैं।

सबसे पहली चीज है जिसे हमें परहेज करना हैं वो कुछ इस तरह है।

नमक: ज्यादा नमक खाने से हमारे शरीर के अंदर पानी रुक जाता है नमक की खासियत ही होती है कि वह अपने साथ पानी को बांधकर लगता है इसलिए ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। जितने ब्लड प्रेशर के मरीज हैं उन्हें यही सलाह दी जाती है कि दिन में 5 से 6 ग्राम से ज्यादा नमक का सेवन ना करें।

नमक किसी भी टाइप का हो हिमालयन साल्ट हो या सी साल्ट या दूसरा कोई भी शर्ट हो सभी नमक में आप कंपोजिशन देखेंगे तो हंड्रेड ग्राम में अराउंड 34 से 37 ग्राम के आसपास सोडियम होता है। सामान्य तौर पर सोडियम को 2 ग्राम एक दिन में लेने की सलाह दी जाती है।

ऐसे लोग जिन्हें पहले से हार्ट अटैक, स्ट्रोक, डायबिटीज है वह नमक की मात्रा को और कम रखें, नमक की मात्रा को डेढ़ ग्राम रखें तो ही बेहतर है।

क्या न खाएं : तली भुनी चीजें या फिर घर के बने पराठे, सब्जियां, चिप्स, नमकीन कुरकुरे इन सब में हम नमक ज्यादा डालता है तो इन चीजों को अवॉइड करें, इनसे परहेज करें।

खास तौर पर बाजार में मिलने वाले पैक्ट आइटम जैसे फास्ट फूड की बात करें तो चाइनीस, मंचूरियन, फ्राइड राइस इसमें बहुत ज्यादा नमक डालता है या फिर चाट, टिक्की, गोलगप्पे, समोसा, कचोरी, चटनी, सॉसेज इन सब में नमक की मात्रा बहुत अधिक होती है और ऐसे ही नॉनवेज के आइटम में भी नमक की मात्रा बहुत ज्यादा होती है इन सभी ज्यादा नमक वाले आइटम को खाने से परहेज करें। घर में भी कम से कम नमक का इस्तेमाल करें।

शुगर वाले आइटम जिसमें एडेड शुगर डाल हुई होती है या शुगर ड्रिंक हो या किसी भी तरह की मिठाइयां इनमें शक्कर होता है और शक्कर से वजन कभी नियंत्रित नहीं होता है जितने कैलोरी हमें चाहिए होती है इन सभी को खाने या पीने से ज्यादा हो जाती है। इसलिए आइसक्रीम, मिठाईयां, केक, पेस्ट्री, शरबत, कोल्ड ड्रिंक्स, फेंटा, मिरिंडा, कोका कोला, पेप्सी, लिम्का इस तरह के आइटम में शुगर होता है जिसे हमें कम से कम लेना है और खाने में भी अलग से शक्कर का प्रयोग ना करें चाय का सेवन भी कम से कम मात्रा में करें।

रेड मीट के अंदर सैचुरेटेड फैट बहुत ज्यादा होता है। सैचुरेटेड फैट वजन को नियंत्रित नहीं करने देता क्योंकि उसमें कैलोरी ज्यादा होती है, यह बहुत ही खराब वाला फ्लैट है इसे भी ब्लड प्रेशर कंट्रोल नहीं होता और वही मीट आइटम्स को बनाने के लिए तेल और नमक का बहुत ज्यादा मात्रा में उपयोग भी किया जाता है।

अल्कोहल का सेवन भी ब्लड प्रेशर वालों के लिए बहुत नुकसानदायक है, अल्कोहल से ब्लड प्रेशर बढ़ता है अल्कोहल के अंदर कैलोरी बहुत ज्यादा मात्रा में होती है। यही कुछ चीजें हैं जो ब्लड प्रेशर की पेशेंट के लिए खराब होते हैं जिनसे उन्हें परहेज करना चाहिए।

high blood pressure के कारण

  • बहुत अधिक धूम्रपान
  • tobacco है नुकसानदायक
  • मोटापे के कारण
  • रेगुलर व्यायाम न करना
  • अधिक मात्रा में नमक का सेवन करना
  • रोजाना ज्यादा मात्रा में अल्कोहल का सेवन
  • स्ट्रेस भी एक बहुत बड़ा कारण है
  • फैमिली हिस्ट्री जेनेटिक कारणों से भी ब्लड प्रेशर हो सकता है
  • किडनी की खराबी, थायराइड की बीमारी की वजह से
  • बहुत ज्यादा खर्राटे लेने से भी हाई ब्लड प्रेशर की संभावना होती है

high blood pressure को तुरंत कंट्रोल कैसे करें

high blood pressure सुनने में जितनी छोटी बीमारी लगती है असल में यह उतनी बड़ी और गंभीर है हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण लोगों को तब समझ जाते हैं जब यह बेकाबू हो जाता है और इसमें कोई दो राय नहीं है कि यह लाइफ स्टाइल से संबंधित रोग है।

अगर दिनचर्या पर काबू किया जाए तो high blood pressure की समस्या से बचा जा सकता है इस रोग के बढ़ने पर ब्रेन हैमरेज, दिल संबंधी रोग पैरालाइसिस और याददाश्त में कमी तक हो सकती है यह बात बहुत कम लोग जानते हैं कि खानपान को सही करके भी इस रोग से बचा जा सकता है आज हम आपको कुछ ऐसे चीजों के बारे में बताएंगे जो हाई बीपी में बहुत फायदेमंद है।

पालक और हरी पत्तेदार सब्जियों में आयरन पोटेशियम और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो बड़े हुए ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मददगार साबित होते हैं।

लोबिया, सोयाबीन, राजमा जैसी फलिया बींस में फाइबर सहित पोटेशियम और मैग्नीशियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है इसलिए इसका सेवन high blood pressure को कंट्रोल करने के साथ ही दिल के लिए भी फायदेमंद होता है।

शरीर में रक्त प्रभाव को संतुलित बनाए रखने के लिए खाने में पोटेशियम और सोडियम का सेवन जरूरी होता है जिन लोगों को डायबिटीज की समस्या नहीं है उनके लिए उबले आलू का सेवन भी फायदेमंद होता है अगर डायबिटीज की समस्या ना हो रोजाना सुबह नाश्ते के साथ पोटेशियम से भरपूर केले का सेवन high blood pressure को संतुलित बनाए रखने का सबसे आसान उपाय है।

लहसुन में ऐसे कोलेस्ट्रॉल रोधी तत्व पाए जाते हैं जो ब्लड प्रेशर को संतुलित रखते हैं यानी रोजाना लहसुन को अपने खाने में शामिल करना चाहिए।

ग्रीन टी का नियमित सेवन भी high blood pressure को नियंत्रित करता है।

अखरोट और बादाम high blood pressure को नियंत्रित करने के साथ ही वजन कम करने में मददगार होते हैं।

स्नान करते समय पानी में 15 से 30 ग्राम नमक डालें और उस पानी से स्नान करें और स्नान करते समय साबुन का इस्तेमाल ना करें तो बहुत ही अच्छा है जब आप नमक के पानी से स्नान करेंगे तो आपको स्नान करने के बाद अपने शरीर को टावर से नहीं पहुंचना है कुछ कुछ देर इंतजार करके पानी को अपने आप सूखने देना है।

आधा चम्मच दालचीनी के पाउडर में एक चम्मच शहद डालकर एक गिलास पानी के साथ इसका सेवन करें अगर आपको high blood pressure के साथ शुगर की बीमारी है तो इसमें शहद का उपयोग ना करें सिर्फ गर्म पानी और दालचीनी को एक साथ मिलाकर इसका सेवन करें। याद रखे कम से कम 1 घंटे तक हमें किसी भी प्रकार का भोजन या नाश्ता नहीं खाना है इसे सुबह के समय खाली पेट में ही ले।

एक गिलास लौकी के जूस में पांच पत्ती धनिया पांच पत्ती तुलसी और पांच पुदीने की लेकर इसे पीस लें और इसमें 3 से 4 कालीमिर्च को भी कूटकर डाल दे फिर लौकी के जूस में मिलाकर इसे रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन करें, इस जूस का सेवन करने के बाद 1 घंटे तक किसी भी प्रकार का नाश्ता या खाना खाने से बचें।

बेल पत्र का काढ़ा बनाकर रोज सुबह खाली पेट सेवन करे या फिर बेल पत्र को धूप में सुखाकर इसका पाउडर बना कर तैयार कर ले और रोज सुबह खाली पेट गर्म पानी के साथ सेवन करे ऐसा करने ये बहित ही चमत्कारी औषधि है इससे अपनी हार्ट और कोलेस्ट्रॉल की दिक्कत से भी राहत मिलेगी।

high blood pressure में कौन सा फल खाना चाहिए

आप अपनी डाइट में विटामिन सी और पोटैशियम युक्त फलों को शामिल करके ब्लड प्रेशर की समस्या से राहत पा सकते हैं अब आइए जानते हैं ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखने के लिए आपको किन फलों को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए।

केला: केले में सोडियम की मात्रा बहुत कम और पोटेशियम की मात्रा बहुत ज्यादा होती है high blood pressure की समस्या में केला खाने से बहुत फायदा होता है सुबह खाली पेट दो केला खाने से हाई ब्लड प्रेशर नॉर्मल रहता है।

एवोकाडो: high blood pressure में एवोकाडो सफल चमत्कार की तरह काम करता है इस फल को खाने से ब्लड प्रेशर तो नॉर्मल रहता ही है साथ ही शरीर में cholesterol का स्तर भी कम हो जाता है एवोकाडो में भारी मात्रा में पोटेशियम और folate पाया जाता है यह दोनों ही दिल के लिए फायदेमंद होते हैं।

तरबूज: गर्मियों का सबसे पॉपुलर फल तरबूज है इसमें l-citrulline नाम का अमीनो एसिड पाया जाता है यह ब्लड प्रेशर कम करने में मददगार होते हैं तरबूज में Fiber Lycopene Vitamin A और potassium पाया जाता है।

चुकंदर: चुकंदर में नाइट्रेट भरपूर मात्रा में पाया जाता है nitrate blood vessels को Relax करता है और शरीर में blood flow को बेहतर करता है चुकंदर के सेवन से ब्लड वेसल जल्द ही नॉर्मल हो जाता है।

संतरा: संतरे में भरपूर मात्रा में Antioxidants पाया जाता है इसके सेवन से high blood pressure को कंट्रोल किया जा सकता है इसके साथ ही संतरे में fiber और vitamin C पाया जाता है जो सेहत को कई तरह से फायदा पहुंचाता है।

जामुन: जामुन में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है इसलिए जामुन का सेवन ब्लड प्रेशर वाले लोगों के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है जामुन के सेवन से ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है।

कीवी: कीवी में Fiber, Vitamin C की अच्छी मात्रा पाई जाती है साथ ही Antioxidants गुणों से भरपूर होती है इसलिए इसका सेवन high blood pressure वाले मरीजों के लिए फायदेमंद साबित होता है।

स्ट्रेबेरी: स्ट्रॉबेरी एक खट्टा फल है इसमें Omega 3 और fatty acids पाया जाता है इसलिए इसका सेवन high blood pressure वाले मरीजों के लिए लाभदायक साबित होता है इसके सेवन से ब्लड प्रेशर कम हो जाता है।

आम: आम में पोटेशियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है इसलिए इसका सेवन high blood pressure में किया जाता है। जिन लोगों को high blood pressure की शिकायत रहती है उन लोगों का आम का सेवन करना चाहिए।

high blood pressure कितना होता है

हमारा हार्ट जब धमनियों में खून को पंप करता है तो तुमने ऊपर जो खून का प्रेशर पड़ता है उसे ब्लड प्रेशर कहते हैं, यह दो तरह का होता है।

सिस्टोलिक और डायस्टोलिक

जब दिल धड़कता है और खून को पंप करता है उस समय जो धनिया के ऊपर प्रेशर होता है उसे सिस्टोलिक प्रेशर कहते हैं।

और एक और दूसरी बार धड़कने से पहले जब हार्ट रेस्ट की पोजीशन में होता है उस समय जो धमनियों में खून का प्रेशर होता है उसे डायस्टोलिक प्रेशर कहते हैं।

जैसे की मन लीजिए आपका बीपी 120/80 है तो इसमें में 120 है वो सिस्टोलिक प्रेशर है और जो 80 है वह डायस्टोलिक प्रेशर है। तो चलिए अब नॉर्मल ब्लड प्रेशर के बारे में जान लेते हैं।

अगर आपका ब्लड प्रेशर 7040 से लेकर 90 60 के बीच में है तो इसे लो ब्लड प्रेशर माना जाएगा यानी कि आपका ब्लड प्रेशर नार्मल से कम है।

अगर आपका ब्लड प्रेशर 9060 से ज्यादा है और 12080 तक है तो इसे ideal blood pressure माना जाएगा यानी कि यह ब्लड प्रेशर की नार्मल रेंज है और इतना ही ब्लड प्रेशर आपका रहना चाहिए।

अगर आपका ब्लड प्रेशर 12080 से ज्यादा है और इसे 4690 तक है तो इसे प्री high blood pressure माना जाएगा यानी कि यह बहुत ज्यादा हाई तो नहीं है लेकिन थोड़ा कम हाई है।

आपका ब्लड प्रेशर 140, 90 से ज्यादा है और 190 100 तक है, तो इसे high blood pressure माना जाएगा यानी कि आपका ब्लड प्रेशर बहुत ज्यादा है। आप अपना ब्लड प्रेशर रेगुलर चेक करते रहिए और इसे नार्मल रेंज में रखिए।

high blood pressure में दही खाना चाइए या नहीं

दही में कोलेस्ट्रॉल और फैट की मात्रा नहीं के बराबर होती है इसलिए इसका नियमित सेवन ब्लड प्रेशर को संतुलित बनाए रखता है।

high blood pressure में दूध का सेवन

दूध में मौजूद विटामिन डी बड़े हुए रक्तचाप को नियंत्रित करने में मददगार है पर फैट की अधिकता कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ा सकती है इसलिए फुल क्रीम के बजाय हमेशा लो फैट दूध का सेवन करना चाहिए।

यह भी पढ़ें –

निष्कर्स: हमने जाना High blood pressure me kya nahi khana chahiye, high blood pressure के कारण, high blood pressure को तुरंत कंट्रोल कैसे करें, high blood pressure में कौन सा फल खाना चाहिए, high blood pressure कितना होता है इन सभी के बारे में, उम्मीद है ये पोस्ट आपको पसंद आया होगा।

Note: इस आर्टिकल में बताए गए किसी भी उपचार, तरीकों और उपाय को लोगों तक जानकारी पहुंचाने के लिए लिखा गया है। किसी भी उपाय को अपनाने से पहले पैच टेस्ट करे और अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। अपना हिंदी इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी या दावा नहीं करता है।  आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद!

3 thoughts on “High blood pressure me kya nahi khana chahiye – हाई ब्लड प्रेशर में क्या नहीं खाना चाहिए, जान लें नही तो पछताएंगे”

Leave a Comment